सुरक्षा परिषद का सदस्य बनते ही पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग

विदेश

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य चुने जाने बाद पाकिस्तान ने कश्मीर को लेकर बड़ी बात कही है। पाकिस्तान को गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का दो साल के लिए अस्थायी सदस्य चुना गया।

सुरक्षा परिषद का सदस्य चुने जाने के बाद पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम ने कश्मीर राग अलापत हुए कहा कि अपनी प्राथमिकताओं को गिनाया है। उन्होंने इस दौरान कहा कि पाकिस्तान की प्राथमिकताएं दक्षिण एशिया में शांति और सुरक्षा को बढ़ावा देना, फिलिस्तीन और कश्मीर के लोगों के लिए आत्मनिर्णय के सिद्धांत को कायम रखना है। 

इनके अलावा अफगानिस्तान में सामान्यीकरण को बढ़ावा देना, अफ्रीका में सुरक्षा चुनौतियों के लिए न्यायसंगत समाधान को बढ़ावा देना, संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों की प्रभावशीलता को बढ़ाना देना भी पाकिस्तान की प्राथमिकताएं हैं। 

आपको बता दें कि पाकिस्तान का सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के रूप में कार्यकाल 1 जनवरी 2025 को शुरू होगा। पाकिस्तान ने 193 सदस्यीय महासभा में 182 वोट हासिल किए हैं। पाकिस्तान के साथ डेनमार्क, ग्रीस, पनामा और सोमालिया भी सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य बने हैं। पाकिस्तान द्वारा 1 जनवरी, 2025 को जापान की जगह ली जाएगी

संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष डेनिस फ्रांसिस ने नए सदस्य के नाम का ऐलान किया है। ये सभी नए देश अब जापान, इक्वाडोर, माल्टा, मोजाम्बिक और स्विटजरलैंड का स्थान लेंगे, जिनका कार्यकाल इस साल 31 दिसंबर को समाप्त हो रहा है। 

Back to Top