मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने की अनोखे अभियान एक नोट-एक वोट की शुरुआत

देश, मध्यप्रदेश

इंदौर: लोकसभा चुनाव 2024 नजदीक आते ही इंदौर में राजनीतिक दलों ने विभिन्न माध्यमों से जनता तक पहुंचना शुरू कर दिया है। मध्य प्रदेश में एक विशिष्ट दृष्टिकोण सामने आया है, जहां राज्य की कांग्रेस इकाई ने 'एक नोट-एक वोट' अभियान शुरू किया है। इस पहल का उद्देश्य आगामी संसदीय चुनावों में पार्टी की भागीदारी का समर्थन करने के लिए दान इकट्ठा करना है। पार्टी ने केंद्र सरकार द्वारा अपने बैंक खातों को फ्रीज करने को एक बड़ी बाधा के रूप में उजागर किया है और आरोप लगाया है कि इससे वे आर्थिक रूप से तनावग्रस्त हो गए हैं।

 

मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष जीतू पटवारी ने सरकार पर आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद जानबूझकर पार्टी के खाते फ्रीज कर उन्हें निशाना बनाने का आरोप लगाया है। राज्य के विधानसभा चुनावों के बाद, कांग्रेस ने पुनर्गठन किया और पटवारी को नया अध्यक्ष नियुक्त किया। राहुल गांधी के साथ अपने करीबी संबंधों के लिए जाने जाने वाले पटवारी को पार्टी नेतृत्व में एक प्रमुख व्यक्ति माना जाता है।

 

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भोपाल के रोशनपुरा चौराहे पर एक नोट-एक वोट अभियान की आधिकारिक शुरुआत की। इस अभियान के दौरान, भोपाल से अरुण श्रीवास्तव और जबलपुर से दिनेश यादव जैसे उम्मीदवारों को संग्रह बक्से ले जाते हुए देखा गया, जो प्रत्येक वोट के महत्व का प्रतीक, प्रत्येक व्यक्ति से एक रुपये का योगदान करने का आग्रह कर रहे थे। मध्य प्रदेश के अन्य निर्वाचन क्षेत्रों के उम्मीदवारों ने भी इस जमीनी स्तर की पहल में सक्रिय रूप से भाग लिया।

Back to Top