साईमा सैयद ने देश में बेटियों का नाम किया ऊंचा

खेल

राजस्थान के जोधपुर की बेटी साईमा सैयद ने देश में बेटियों का नाम ऊंचा किया है. साईमा ने 80 किलोमीटर की एंडयूरेंस रेस में ब्रोंज मैडल के साथ क्वालीफाई कर वन स्टार राइडर बनने की उपलब्धि हासिल की है. साईमा देश की पहली ऐसी महिला घुड़सवार बन गई हैं, जिसने ये मुकाम हासिल किया है. साईमा ने इक्वेस्ट्रीयन फेडरेशन ऑफ इंडिया और ऑल इंडिया मारवाड़ी हॉर्स सोसाइटी, गुजरात चैप्टर के संयुक्त तत्वाधान में 17 व 18 फरवरी को गुजरात के अहमदाबाद में प्रतियोगिता में भाग लिया था.

इसमें 80 किमी की प्रतियोगिता में देश की विख्यात घुड़सवारों के साथ प्रतिस्पर्धा करते हुए ब्रोंज मैडल जीता. इससे पहले साईमा ने 40, 60 और 80 किलोमीटर की प्रतियोगिताओं में पदक जीतते हुए क्वालीफाई किया. नागौर के बड़ी खाटू कस्बे की निवासी साईमा का पर‍िवार अब जोधपुर में रहता है. साईमा ने राजस्थान के साथ ही देश का भी मान बढ़ाया है. इससे पहले ये वंडर वुमन का खिताब भी जीत चुकी हैं. ये प्रतियोगिता महिला-पुरुषों के लिए अलग-अलग नहीं होती, बल्कि एक साथ ही होती है. साईमा ने पुरुषों से संघर्ष कर ये ख़िताब जीता.

बता दें कि साईमा टूर्नामेंट में अक्सर अपनी प्रिय अरावली घोड़ी के साथ जाती हैं. 8 साल के प्रयास के बाद अब उन्हें यह कामयाबी हासिल हुई है. नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल सहित कई मंत्रियों ने उन्हें बधाई दी.

Back to Top