छत्तीसगढ़  में आक्सीजन की किल्लत!

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने पीएम नरेन्द्र मोदी से कल 16 मई को दूरभाष पर हुई चर्चा इसके पहले प्रधानमंत्री द्वारा मुख्यमंत्रियों के साथ ली गई वीडियो कांफ्रेसिंग में कोरोना की स्थिति में सुधार और आक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता के मद्देनज़र स्टील उद्योगों को 20 फीसदी आक्सीजन के इस्तेमाल की अनुमति प्रदान करने का आग्रह किया गया था।

 

पीएम मोदी ने इस पर विचार का आश्वासन दिया था। इसके बाद सीएम बघेल से फोन पर हुई चर्चा में केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने इस संबंध में प्रस्ताव तैयार कर भेजने के लिए था। जिस पर CM भूपेश बघेल ने आज केन्द्रीय मंत्री गोयल को पत्र लिखकर स्टील उद्योगों को छत्तीसगढ़ में उत्पादित आक्सीजन की 20 फीसद मात्रा के इस्तेमाल की अनुमति प्रदान करने का आग्रह किया है। सीएम बघेल ने केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल को लिखे गए पत्र में कहा है कि, 'छत्तीसगढ़ राज्य की विभिन्न इकाईयों की कुल दैनिक ऑक्सीजन प्रोडक्शन की क्षमता 462 मीट्रिक टन है। सामान्य परिस्तिथियों में सूबे की स्टील निर्माता कम्पनियों को ऑक्सीजन निर्माताओं द्वारा ऑक्सीजन की सप्लाई की जाती है।

 

कोरोना महामारी के इस बढ़ते कहर की वजह से केंद्र सरकार ने देश में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु उत्पादित ऑक्सीजन के औद्योगिक उपयोग पर रोक लगा दी थी। राज्य सरकार द्वारा यह सुनिश्चित किया गया कि राष्ट्रीय आपदा की घड़ी में सूबे के सभी ऑक्सीजन उत्पादकों द्वारा अनेक राज्यों को उनकी जरुरत एवं मांग के अनुरूप ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाए।

Back to Top